क्या आप परेशान है Bussiness में अस्थिरता से ? अगर हां तो करे ये उपाय ...


विश्वविख्यात  ज्योतिषचार्या व लाल किताब स्पेशलिस्ट Gurudev GD Vashist जी बताते है की कामकाज और कारोबार का सम्बन्ध बुध ग्रह से है। गुरुदेव का कहना यह भी है की लाल किताब विशेषज्ञ राहु - केतु या शनि से नहीं बल्कि बुध से डरते है। कहा जाता है की अगर बुध ग्रह ख़राब तो सब ख़राब और अगर बुध ग्रह अच्छा तो क्यों न बाकि सब ग्रह बुरे भी हो तब भी इंसान पार लग जाता है क्योकि बुध ग्रह ही कामकाज और बिज़नेस का कारक  है।


जिन लोगो की कुंडली में बुध ख़राब होता है व इंसान बिज़नेस तो बिज़नेस नौकरी में भी सफलता नहीं ले पाता जब तक कोई और ग्रह कोई उत्तम फल ना दे रहा हो। कहा जाता है यदि कोई व्यक्ति अशुभ बुध लेकर किसी समृद्ध घर में जन्म ले लेता है तो उस घर की समृद्धि व रूपए पैसे को आग लगाने का काम ही करता है।

बुध ग्रह केवल बिज़नेस ही नहीं बल्कि आपके दिमागी संतुलन के लिए भी जिम्मेदार है। अपनी कुंडली में शुभ बुध लेकर जन्मे व्यक्ति को माँ दुर्गा का वरदान मिलता है और ये लोग बहुत अच्छे बिज़नेस से सम्बंधित योजना बनाते है और चुटकियों में उन्हें पूरा करके ढेर सारी समृद्धि अपने घर में लाते है।

जिन लोगो के घर में बहन, बेटी या फिर बुआ किसी न किसी दुःख से ग्रसित रहती हो उनका बुध भी ख़राब होता है।
यदि आप ऊपर लिखी परेशानियों से ग्रसित रहते है तो आप अपनी कुंडली का आंकलन परमपूज्य ज्योतिषाचार्य गुरुदेव जी डी वशिष्ठ  से ज़रूर करवाए और निम्नलिखित उपाय ज़रूर करे।

1. अपनी बहन, बुआ और बेटियों के साथ हमेशा अच्छे  सम्बन्ध बनाये रखे व उनकी सेवा करते रहे।
2. 96 दिनों के लिए बीच में से नाक छेदन अवश्य  करवाए और उसमे चांदी या सोने की तार धारण करे और 96 दिनों के बाद उसे निकाल के बहते जल में डालदे।
3. अपने घर से शंख,सीप, कोडिया, ढोलकी, गिटार,सितार, तबला, मनी प्लांट, रबर प्लांट, तुलसी, बांस की बेकार पड़ी चीज़ें , सबको बाहर  निकाले।
4. हरे रंग से परहेज रखे।

अधिक जानकारी के लिए 
या 
अपनी कुंडली का फ्री में आंकलन करवाने या अपनी Yes I Can Change जन्म पत्रिका मंगवाने के लिए कॉल करे 0124 -6674671