समागम जहां बहा ‘सुख का सागर’



श्री फोर्ट ऑडिटोरियम अगस्‍त क्रांति मार्ग में 22 मई को पंडित जीडी वशिष्‍ठ की उपस्थिति में सुख का सागर समागम हुआ। इस कार्यक्रम का संचालन मशहूर टीवी कलाकार योगिता सिंह और शक्ति आनंद ने किया। इस समागम में पंडित जीडी वशिष्‍ठ के सानिध्‍य का लाभ लेने सैकड़ों की संख्‍या में लोग उपस्थित हुए।
इस अवसर पर पंडित जी ने वहां उपस्थित सभी लोगों को संबोधित किया और लाल किताब अमृत के विषय में बहुमूल्‍य जानकारी दी। पंडित जीडी वशिष्‍ठ जी ने यहां उपस्थित लोगों के सवालों के जवाब भी दिए। क्‍योंकि संख्‍या में लोग बहुत ज्‍यादा थे इसलिए सभी के सवालों को कागज में लिख कर पर्चियां बनाई गईं। इसके बाद वशिष्‍ठ जी ने एक-एक कर पर्चियां खोलीं और उस पर लिखे सवालों के जवाब दिए।
लाल किताब अमृत के महत्‍व को जानते हुए पंडित जीडी वशिष्‍ठ ने अपने हाथों से यहां मौजूद गरीब लोगों को एक लाल किताब अमृत भेंट स्‍वरूप दी। इतना ही नहीं जो जरूरत मंद लोग यहां उपस्थित नहीं हो सके थे, पंडित जी द्वारा उनके लिए भी लाल किताब अमृत उनके घर भेंट स्‍वरूप भिजवाई गई।
समागम में उपस्थित सभी लोगों को संबोधित करते हुए वशिष्‍ठ जी ने ग्रहों और उनकी दशा दिशा से जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में बताया। उन्‍होंने इससे बचने और ग्रहों को अपने हित में लाने के लिए उपाय भी बताए।
22 मई को दोपहर 2 बजे से 8 बजे तक पांच घंटे चले इस समागम में उपस्थित सभी लोगों को सुख का सागर बुकलेट दी गई जिसमें ग्रहों की प्रारंभिक जानकारी पंडित जी द्वारा दी गई। कार्यक्रम के समाप्ति में यहां से जाने वाला हर व्‍यक्ति संतुष्‍ट था और उसकी ज़ुबान पर केवल एक ही शब्द थे,  बस अब दुख और नही, बस अब दुख और नही, बस अब दुख और नही..